तमिलनाडु : पीएफआई के गढ़ों में भारी सुरक्षा

  1. Home
  2. राजनीति

तमिलनाडु : पीएफआई के गढ़ों में भारी सुरक्षा

तमिलनाडु : पीएफआई के गढ़ों में भारी सुरक्षा

चेन्नई, 23 सितंबर (आईएएनएस)। तमिलनाडु पुलिस ने उन सभी क्षेत्रों में भारी फोर्स तैनात किया है जहां कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) मजबूत है।


चेन्नई, 23 सितंबर (आईएएनएस)। तमिलनाडु पुलिस ने उन सभी क्षेत्रों में भारी फोर्स तैनात किया है जहां कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) मजबूत है।

गुरुवार को पीएफआई के खिलाफ देशव्यापी कार्रवाई में संगठन के करीब 106 वरिष्ठ पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार लोगों में पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओ.एम.ए. सलाम, उपाध्यक्ष, ई. अब्दुर्रहमान, राष्ट्रीय सचिव नसीरुद्दीन एलमारम, विचारक और राष्ट्रीय नेता, प्रो. पी. कोया और केरल के कुछ अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी शामिल हैं।

तमिलनाडु से गिरफ्तार किए गए शीर्ष नेता ए.एम. इस्माइल कोयंबटूर से पीएफआई के राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य हैं।

ए.एम. इस्माइल को कोयंबटूर से, यासर अराफात को डिंडीगुल से और कुड्डालोर से कुड्डालोर जिला सचिव फैयास अहमद को गिरफ्तार किया गया।

आठ अन्य नेताओं को राज्य के विभिन्न हिस्सों से गिरफ्तार किया गया।

ए.एम. इस्माइल की गिरफ्तारी के बाद एसडीपीआई और पीएफआई कैडरों ने एनआईए और सीआरपीएफ अधिकारियों के रास्ते रोक दिए।

पीएफआई नेताओं पर कार्रवाई केंद्रीय एजेंसियों -- इंटेलिजेंस ब्यूरो, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के पिछले कई महीनों से संगठन की गतिविधियों की निगरानी करने के बाद की गई है।

पुलिस ने कहा कि, राज्य के कुछ हिस्सों से पथराव की कुछ मामूली घटनाएं सामने आई हैं जहां पीएफआई की ताकत है। तमिलनाडु में, चेन्नई, डिंडीगुल, कोयंबटूर, रामनाथपुरम, तिरुनेलवेली, मदुरै, सलेम और इरोड में भारी पुलिस तैनात है।

इस बीच, एनआईए के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि, आगे और छापेमारी की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता क्योंकि उसे संगठन की गतिविधियों के बारे में अधिक जानकारी मिली है।

टेरर फंडिंग और टेरर ट्रेनिंग मुख्य आरोप हैं जो पीएफआई नेताओं के खिलाफ लगाए गए हैं। यह भी पता चला है कि पीएफआई नेताओं को समाज में खून-खराबा रोकने के लिए पकड़ा गया है।

तमिलनाडु पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि, एनआईए और ईडी सहित केंद्रीय एजेंसियों ने बुधवार देर रात राज्य पुलिस के उच्चाधिकारियों के साथ आगामी छापेमारी के बारे में बताया था और गुरुवार की सुबह छापेमारी शुरू हुई।

रांची से सीआरपीएफ की एक टुकड़ी को तैनात किया गया था और छापेमारी की प्रत्येक जगह पर एनआईए और ईडी के चार अधिकारी छापे की रखवाली कर रहे 50 अधिकारियों के सीआरपीएफ दल के साथ मौजूद थे।

--आईएएनएस

पीटी/एसकेपी