तमिलनाडु : एनआईए की छापेमारी के खिलाफ पीएफआई निकालेगा विरोध मार्च

  1. Home
  2. राजनीति

तमिलनाडु : एनआईए की छापेमारी के खिलाफ पीएफआई निकालेगा विरोध मार्च

तमिलनाडु : एनआईए की छापेमारी के खिलाफ पीएफआई निकालेगा विरोध मार्च

चेन्नई, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। देश भर में सुबह-सुबह छापेमारी से हैरान पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) गुरुवार को पूरे तमिलनाडु में विरोध मार्च की योजना बना रहा है।


चेन्नई, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। देश भर में सुबह-सुबह छापेमारी से हैरान पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) गुरुवार को पूरे तमिलनाडु में विरोध मार्च की योजना बना रहा है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूरे तमिलनाडु में कई जगहों पर छापेमारी की।

एनआईए के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि देशभर में तड़के छापेमारी के बाद से पॉपुलर फ्रंट के 106 नेताओं को हिरासत में लिया गया है। इनमें संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमए सलाम और महासचिव नसीरुद्दीन एलमारम भी शामिल हैं।

एनआईए के अनुसार, छापेमारी कुछ आपत्तिजनक दस्तावेजों के आधार पर की जा रही है, जो एजेंसी को आतंकी फंडिंग की जांच के दौरान मिले। केरल और कर्नाटक में संगठन पर हत्याओं का आरोप है।

राज्य के पलक्कड़ और कोल्लम जिलों में पॉपुलर फ्रंट के कार्यकर्ताओं द्वारा आरएसएस के तीन नेताओं संजीत, अधिवक्ता रंजीत और श्रीनिवासन की हत्या कर दी गई थी। कर्नाटक राज्य के शिवमोगा में पीएफआई कार्यकर्ताओं द्वारा एक हिंदू मुन्नानी और बजरंग दल कार्यकर्ता हर्ष की हत्या कर दी गई। इन लोगों की हत्याओं के बाद की गई छापेमारी के दौरान कई दस्तावेज जब्त किए गए थे।

एनआईए के कुछ अधिकारियों के अनुसार, जब्त दस्तावेजों में पॉपुलर फ्रंट ने आरएसएस और अन्य हिंदू कार्यकर्ताओं की एक लिस्ट तैयार की थी, जिन्हें मारा जाना था।

एनआईए और ईडी के छापे इन हत्याओं से संबंधित हैं। साथ ही फंडिंग का संकेत देने वाले दस्तावेज भी शामिल हैं। एक पॉपुलर फ्रंट कार्यकर्ता नासिर को पहले केरल के एनार्कुलम से हिरासत में लिया गया था। उसने अधिकारियों के सामने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के फंडिंग मोडस ऑपरेंडी के बारे में खुलासा किया।

एनआईए और ईडी ने गुरुवार सुबह तमिलनाडु के चेन्नई, कोयंबटूर, तिरुनेलवेली, कन्याकुमारी, डिंडीगुल, सलेम, रामनाथपुरम और इरोड इलाकों में छापेमारी की। चेन्नई में पीएफआई की राज्य समिति के कार्यालय पर छापेमारी सुबह 3 बजे शुरू की गई और यह सुबह 8 बजे तक चली। एनआईए के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि कार्यालय से कुछ दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

पीएफआई चेन्नई में एनआईए के हेड ऑफिस के लिए एक विरोध मार्च निकालेगा। पीएफआई और एसडीपीआई कार्यकर्ताओं ने राज्य के कई हिस्सों में सड़कों को अवरुद्ध कर दिया है।

सीआरपीएफ और अन्य केंद्रीय पुलिस एजेंसियों की भारी टुकड़ी एनआईए और ईडी की टीमों को सुरक्षा मुहैया करा रही है।

--आईएएनएस

पीके/एसकेके